मध्यप्रदेश इंदौर में प्रधानमंत्री और राजीव गांधी योजना के तहत 25000 आवास बनाये जायेंगे

Pradhan Mantri Awas Yojana Urban

मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में, नगर निगम इन्दौर, केंद्र सरकार की दो योजनाओं के अंतर्गत 25 हजार आवास 2022 तक की तय समय सीमा के अन्दर बनाएगा | निगम के द्वारा पहले खंड में 8500 घर बनाये बनाये जाएँगे | इस योजना के लिए 7 और 9 सितम्बर को टेंडर खोले जाएँगे जो लगभग 600 करोड़ से ज्यादा के हैं | पैसों के हिसाब से इतनी बड़ी ये दोनों योजनायें प्रधानमंत्री आवास योजना और राजीव गाँधी आवास योजना के त मूलरूप धारण करेंगी | योजना को मूलरूप देने के लिये भूमिं का चयन किया जा चूका है |  महापौर मालिनी गौड़ और निगमायुक्त मनीष सिंह के अनुसार सबके लिये घर योजना इंदौर जैसे शहर के लिये बहुत आवश्यक है | उन्होंने कहा की 2022 तक 25हजार घर बनाये जायेंगे | योजना दो भागों में पूरी होगी पहले भाग में 497.96 करोड़ की लगत से 7034 आवास और दुसरे भाग में 13हजार से अधिक आवासों का निर्माण होगा |  सिटी इंजीनियर हरभजन सिंह के अनुसार टेंडर के लिये राष्ट्रिय स्तर की कंपनियों को आमंत्रित किया जायेगा | सबके लिये घर योजना के टेंडर 7 सितम्बर को तथा राजीव गाँधी आवास योजना के लिये 9 सितम्बर को टेंडर खोले जायेंगे | सबके लिये आवास योजना के लिए निरंजनपुर, भूरी टेकरी और बड़ा बांगड़दा का नया बसेरा की जगह तय हो चुकी है। राजीव गांधी आवास योजना के अंतर्गत लिंबोदी, टिगरिया राव और बड़ा बांगड़दा में 87.13 करोड़ रुपए से 1472 आवासों का निर्माण होगा |

ईडब्ल्यूएस 1408

एलआईजी 504

एमआईजी 216

ईडब्ल्यूएस (कमजोर आय वर्ग) – 2976

एलआईजी (निम्न आय वर्ग) – 432

एमआईजी (मध्यम आय वर्ग) – 216

1. निरंजनपुर (स्कीम 114 से लगे हुए) :- 246.51 करोड़ लागत

2. भूरी टेकरी :- 96.45 करोड़ लागत
3. बड़ा बांगड़दा :-155 करोड़ लागत

सबके लिये घर  : योजन की लागत  497.96 करोड़ 7034 आवास

87.13करोड़ रुपए

1. लिंबोदी :- 29.03 करोड़ लागत ,512 ईडब्ल्यूएस

2. टिगरिया राव :-11.16 करोड़ लागत, 192 ईडब्ल्यूएस

3. बड़ा बांगड़दा :- 46.94 करोड़ लागत ,768 ईडब्ल्यूएस

कुल आवास :-1472

राजीव गांधी आवास योजना में कितने आवास कहां किस श्रेणी के बनेंगे


एमआईजी -144 , एलआईजी -432 , ईडब्ल्यूएस  -706

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *